अपने ब्लॉग के लिए सर्वश्रेष्ठ विषय का चुनाव कैसे करें

An ultimate Guide to Choosing a Perfect Niche for your Blog

ब्लॉग चाहे जिस भी भाषा में लिखा जाए। उसके तरीके, उसका मंच और उसके ध्येय लगभग समान ही होते हैं। जब भी हम ब्लॉग लेखन शुरू करने के बारे में विचार बनाते हैं तो कुछ सवाल और शंकाएं हमारे मन में आती हैं। उनमें से प्रमुख सवाल होता है कि हमें अपने ब्लॉग में किस या किन विषयों को जगह देना चाहिए? इसके साथ ही हमारे मन में एक डर बना  रहता है कि हमारे द्वारा चुने गए विषय को लोग पढ़ते भी हैं या नहीं?  विषय के आधार पर हमारा ब्लॉग सफल हो पाएगा या नहीं?

Learn Step-By-Step How to Find Profitable Niches for your Blog or Website

पहले ये जान लीजिये ...

संक्षेप में कहें तो Niche का मतलब है - आपके ब्लॉग का विषय क्या है ? हालाँकि नया ब्लॉग शुरू करना बहुत आसान है मगर इस पर लगातार काम करते रहना बहुत मुश्किल है | हम में से बहुत से लोग जब ब्लॉग शुरू करते हैं तो आज किसी विषय पे लिखते हैं और कल किसी और विषय की ओर मुड़ जाते हैं | सही विषय का निर्धारण न कर पाने से हम Targeted Customers को आकर्षित नहीं कर पाते और Blogging की दुनिया में पिछड़ जाते हैं |

webinar-graphic.png

रमेश शहर का एक प्रतिष्ठित शेयर ब्रोकर था | अपने 12 वर्षों के शेयर बाज़ार के अनुभव के बाद उसने एक ब्लॉग शुरू करने की सोची |जब उसने अपनी पत्नी रश्मि से इस बारे में बात की तो उसने भी उसे सलाह दी कि उसे एक ब्लॉग में अपने अनुभव लोगों को बताने चाहिए | मगर रमेश चाहता था कि शेयर बाज़ार में तो वो दिन भर माथापची करता ही है और इसलिए वो किसी अन्य विषय पे ब्लॉग शुरू करना चाहता था | रमेश चाहता था कि खान पान या स्वास्थ्य पर एक ब्लॉग बनाया जाये क्योंकि इन विषयों में उसे महारत हासिल थी | लेकिन रश्मि ने कहा की आपको तो क्रिकेट की भी अच्छी जानकारी है और क्रिकेट पर इंटरनेट पे ज्यादा ब्लॉग नहीं है , इसलिए उसे क्रिकेट पे आधारित ब्लॉग बनाना चाहिए मगर रमेश को ये विषय बोरिंग लगता था | 2 महीने लगातार विचार विमर्श करने के बाद भी वो किसी विषय को फाइनल नहीं कर पाए और अंततः रमेश ने शेयर बाज़ार पर आधारित ब्लॉग शुरू कर दिया | चूँकि इस विषय में उसकी ज्यादा रूचि नहीं थी , इसलिए वो ब्लॉग 6 महीने में ही बंद करना पड़ा | ये वो समय था जब उसे उस ब्लॉग से कुछ कमाई शुरू होने ही वाली थी | अब उसने स्वास्थ्य पे आधारित ब्लॉग बनाया मगर यहाँ भी 4-5 महीने में ही वो उकता गया और एक बार फिर उसने विषय बदल कर क्रिकेट पे आधारित ब्लॉग शुरू करने का फैसला किया | बार बार विषय बदलने के कारण उसे सारी मेहनत नए सिरे से करनी पड़ती और फिर जब कमाने का समय आता तो वो उस विषय पर नियमित जारी ही नहीं रख पाता था | आखिरकार उसने Blogging को "अंगूर खट्टे हैं " की कहावत के अनुसार बेकार मान लिया |

तो, आप एक ब्लॉग शुरू करने जा रहे हैं - बधाई! लेकिन क्या आपने अपने ब्लॉग के लिए विषय चुन लिया है? और क्या आपने इसे बुद्धिमानी से सोच विचार कर चुना है? अपने ब्लॉग के लिए सही विषय चुनना बहुत महत्वपूर्ण है।  याद रखिये यह एक सफल ब्लॉग की नींव है।

यदि ये चरण गलत हो गया तो हो सकता है कि आप दुखी और निराश महसूस करें| इसलिए अब थोड़ा मेहनत करना बेहतर है, बजाय इसके कि बाद में पछताया जाये | अगले कुछ खंडों में आप अपने ब्लॉग के लिए विषय को चुनने के लिए चरण-दर-चरण विधि सीखेंगे। अपने आदर्श विषय को चुनने से पहले आइए एक त्वरित नज़र डालें कि वास्तव में इस शब्द का क्या अर्थ है।

Niche या विषय क्या है?

यह एक अजीब शब्द है -Niche । सुनकर अजीब लग रहा होगा | जब तक आप ब्लॉगिंग या इंटरनेट मार्केटिंग के बारे में बात नहीं करेंगे, यह शब्द शायद आपको अजीब लगता रहेगा ।

 

BehindWP पर यहां हमारी सभी पोस्ट WordPress के इर्द गिर्द लिखी गयी हैं। चाहे उसके Plugins हों , Theme या Hosting हों , यह सभी WordPress से संबंधित है। यही हमारा Niche है |  बहुत सारे अलग अलग ब्लॉग विषय देखने के लिए Alltop एक शानदार जगह है।

यदि आप Menu से ‘Topics’ पर क्लिक करते हैं, तो आपको कुछ सामान्य ब्लॉग विषय क्षेत्रों को दिखाने वाला Drop Down Menu  मिलेगा; जैसे काम, स्वास्थ्य, संस्कृति, रुचियां, तकनीक, लोग, समाचार, खेल आदि।

ये सामान्य ब्लॉग विषय काफी व्यापक हैं, इसलिए एक विषय चुनें और थोड़ा और नीचे जाएँ । उदाहरण के लिए, स्वास्थ्य पर एक नज़र डालें और आप विशिष्ट विषयों की विविधता देख सकते हैं- जैसे मुंहासे, कैंसर मधुमेह आदि।

 

तो आगे बढ़ें ?

कैसे चुनें अपनी वेबसाइट या ब्लॉग का विषय

क्यों जरूरी है ब्लॉग का विषय चुनना

यदि आप अपने ब्लॉग के लिए एक ख़ास विषय या Niche चुन लेते हैं तो आपको सिर्फ उस विषय पर ही अपना ध्यान लगाना पड़ता है और बाकी सब इधर उधर की चीज़ें आपका ध्यान नहीं भटकाती | इससे आप अपने लेखन में , मार्केटिंग में और सोशल मीडिया में विषय पर केन्द्रित होते हुए ध्यान दे सकते हैं |

इससे न केवल आप अपने विषय के Expert बन सकते हैं बल्कि उस विषय के इर्द गिर्द लोगों का एक समूह बना सकते है | यही समूह बाद में आपका Targeted Customer भी बनेगा जो आपको आपके ब्लॉग से पैसे कमाने में मदद करेगा |

एक विषय पर आधारित ब्लॉग को Search Engine में Rank करना भी आसान है और इससे आपकी विश्वसनीयता भी बढती है क्योंकि जब आप एक ही विषय के बारे में लगातार विस्तार से जानकारी देते है तो अपने पाठकों की नजर में भी आप अपने विषय के Expert बन जाते हैं और वे आपकी बातों पे यकीन करते है |

विषय एक ही हो या बहुत से विषय

जब आप अपना व्यक्तिगत ब्लॉग या वेबसाइट बना रहे हों तो विषय कोई ख़ास मायने नहीं रखता क्योंकि उसमे आप अपनी पसंद से कुछ भी लिख सकते है |उस समय आपका मकसद सिर्फ अपना शौक पूरा करना होता है नाकि ब्लॉग से पैसे कमाना |

लेकिन जब आप व्यावसायिक स्तर पर ब्लॉग बना कर कुछ पैसे कमाना चाहते है तो बहुत से विषयों पर एक साथ लिखना नुक्सान ही करता है | व्यावसायिक ब्लॉग यदि एक ही विषय पर केन्द्रित हो तो ही फायदा है | यदि आप एक ही ब्लॉग में बहुत से अलग अलग विषयों पर लिखेंगे तो आपके लिए अपने ब्लॉग को परिभाषित करना और पाठकों को आकर्षित करना मुश्किल होगा |

बहुत से विषयों वाले ब्लॉग का SEO करना भी मुश्किल है और Google ऐसे Blogs को उच्च स्तर नहीं देता | इतना ही नहीं , ऐसे ब्लॉग से पैसे कमाना भी बहुत मुश्किल है क्योंकि आप अपने आप को किसी एक विषय के Expert साबित नहीं कर पाएंगे और लोग भी आपकी बात पर ज्यादा भरोसा नहीं कर पाएंगे

रिसर्च बहुत जरूरी है

जब आप ब्लॉग के लिए सही विषय का चुनाव कर रहे हो तो यह सबसे Important चीज है कि आप सबसे पहले अपने Interest के बारे में जान लीजिए। आपका Interest जिस विषय पर है, उस तरफ आप सबसे ज्यादा ध्यान दीजिए।

अगर आपने अपने Interest के हिसाब से विषय चुन लिया है और आप जानना चाहते हो कि क्या यह आपके लिए Perfect है तो इसके लिए आप ये कुछ Questions अपने आप से पूछिए। क्या आप सच मे उस Topic के बारे में Research करना और पढ़ना पसंद करते हैं ? क्या आप बिना Boring के आने वाले कई सालों तक उसी Topic पर लिखना पसंद कर सकेंगे ?

मैंने इस सूची में पहले स्थान पर रिसर्च को रखा है क्योंकि मुझे पता है कि आपकी वेबसाइट के लिए एक विषय का चयन करते समय यह कितना महत्वपूर्ण है।

आपको यह जानना और समझना होगा कि आपके हितों और बाजार में मांग के आधार पर कौन सा विषय आपके लिए सही है।

  • आप किसी एक विषय के बारे में भावुक हैं , सिर्फ इसलिए उस विषय को मत चुनिए - इससे पैसा बनाना आपके लिए मुश्किल हो जाएगा।
  • किसी विषय की लाभप्रदता को जांचे बिना उसे मत चुनिए । अगर उसके लिए कोई बाजार नहीं है तो कोई ऐसा तरीका नहीं है कि आप एक लाभदायक व्यवसाय बना सकें |

इसलिए यदि आप सोच रहे हैं कि विषय का चुनाव  कैसे करना है, तो मैं यहां उन तीन चरणों के बारे में बताने जा रहा हूँ , जिन्हें आप अपने ब्लॉगिंग विषय चुनाव के लिए शोध करते समय कर सकते हैं:

# 1  विचार प्राप्त करें:

अपने व्यवसाय के लिए संभावित विचारों की एक सूची बनाएं। विचारों के लिए मंथन करते समय  इन 4 प्रश्नों को स्वयं से पूछें।

  • जीवन में आपके सबसे बड़े जुनून और रुचियां क्या हैं?
  • आपके शौक क्या हैं?
  • क्या आपके पास कोई पिछला कार्य अनुभव है जो संभावित रूप से व्यवसाय में बदल सकता है?
  • आप किस तरह का व्यवसाय करना चाहते हैं? आपका सपना व्यवसाय क्या है?

अपने स्मार्टफोन पर एक नोटपैड या मेमो फंक्शन लें और जो भी मन में आए उसे लिख लें। ताकि हम सूची को केवल एक पल में संकुचित कर सकें।

# 2 अपने शीर्ष 3 से 5 विषयों  को चुनें:

उन विचारों पर ध्यान केंद्रित करें जिन्हें आप एक व्यवसाय के रूप में पसंद करेंगे। याद रखें कि आप इस नए उद्यम में बहुत अच्छा समय बिताने जा रहे हैं।

इसलिए ऐसा विषय चुनें, जिसके बारे में आप वास्तव में भावुक हों। यदि आप विषय का आनंद नहीं लेते हैं, तो आप इसे सफल बनाने के लिए कड़ी मेहनत करने के लिए प्रेरणा खो देंगे। तो, कागज पर शीर्ष 3 से 5 निचे लिखें जो वास्तव में आपकी रुचि के हों |

# 3  इसका लाभ निर्धारित करें:

अब, उन्हें बारीकी से देखने और यह निर्धारित करने का समय है कि क्या इनमें लाभ की संभावना है। आपके अधिकांश शोध ऑनलाइन किए जा सकते हैं।

आप प्रतियोगियों का अनुसंधान कर सकते हैं या आप अनुमानित आय का पता लगाने के लिए आप शीर्ष ब्लॉग (अपने उद्योग में) भी पढ़ सकते हैं। यह किसी भी विषय की लाभप्रदता निर्धारित करने का सबसे सरल तरीका है।

अब, आपके द्वारा चुने गए प्रत्येक विषय के लिए, सुनिश्चित करें कि आप अपने विषय को संकीर्ण करने के लिए इन चरणों का पालन करें।

चरण 1: अपने विषय से संबंधित कीवर्ड की खोज करें:  व्यापक विषय की खोज करें, साथ ही साथ उस स्थान के अधिक विशिष्ट पहलुओं को भी देखें।

उदाहरण के लिए चलिए फैशन ब्लॉग लेते हैं, आप "पुरुषों के फैशन," "महिलाओं के फैशन," "कपड़े और सामान," और "रेशम धागे की चूड़ियाँ" की खोज कर सकते हैं।

यहाँ आप एक मजबूत खोज परिणाम पृष्ठ की तलाश कर रहे हैं। आपको विषय के लिए समर्पित वेबसाइटों को देखना होगा, उस Niche में विषय, ब्लॉग और अन्य ऑनलाइन व्यवसायों के बारे में लिखे गए लेख देखने होंगे । यदि आप प्रतिस्पर्धा पाते हैं, तो यह वास्तव में अच्छी खबर है।

इसका मतलब है कि इस बाजार में लोगों की दिलचस्पी है और वे खरीददारी के लिए तैयार है।

यदि आपको अपने विषय के लिए कई परिणाम नहीं मिलते हैं, तो संभवतः ऑनलाइन कई संभावित ग्राहक नहीं हैं।

चरण 2: व्यापक खोजशब्द अनुसंधान (Keyword Research ) करें :

Google AdWords Keyword Planner का उपयोग करें। यह पूरी तरह से मुफ़्त है बस आपको Adwords के लिए साइन अप करना होगा। यहां फिर से उन्हीं Keywords को खोजें।

यदि आप अपने " मुख्य " Keyword के लिए प्रति माह 10,000 से ऊपर की खोजों को देखते हैं और अन्य संबंधित लेकिन अधिक विशिष्ट Keywords के लिए कुल 50,000 हैं, तो यह आमतौर पर एक विजयी ऑनलाइन व्यापार विषय का एक अच्छा संकेतक है।

चरण 3: अमेज़न देखें। यह एक महान अनुसंधान उपकरण भी है। यहां फिर से उन्हीं Keywordsके साथ-साथ आपके Niche से संबंधित अन्य चीज़ों को खोजें।

जब मैंने खाना पकाने से संबंधित शब्द खोजे तो बहुत ज्यादा परिणाम मिले, हजारों खाना पकाने के उत्पाद। यह एक और महान संकेतक है कि खाना पकाने का व्यवसाय अच्छी तरह से काम करेगा।


चरण 4: Affiliate Marketing साइटों की जाँच करें: Clickbank जैसी Affiliate Marketing साइटों पर जाएँ। यह विशेष साइट ई-बुक्स जैसे सूचना उत्पादों में माहिर है। हालाँकि, वहाँ बहुत सी अन्य Affiliate Marketing साइट्स हैं।

अपने Niche के लिए एक खोज कीजिये |

यदि कई उत्पाद उपलब्ध हैं, तो इसका मतलब है कि बाजार तैयार है ।

तो अब आपके पास कुछ उत्पादों के लिए एक स्रोत है जिसे आप अपने ऑनलाइन उद्यम में बेच सकते हैं। एक सहयोगी के रूप में, आप उत्पादों को बढ़ावा देंगे और प्रत्येक बिक्री पर एक कमीशन प्राप्त करेंगे। यह आपके इंटरनेट व्यवसाय को शुरू करने का एक शानदार तरीका है क्योंकि आपको अपने उत्पादों को बनाने के लिए समय नहीं निकालना पड़ता है।

हमेशा प्रतियोगिता बहुत होती है। लेकिन, कई अन्य कंपनियों के होने का मतलब है कि उस जगह पर उत्पाद खरीदने के लिए तैयार ग्राहकों का एक बड़ा बाजार है।

क्या आपके विषय में कमाई की सम्भावना है ?

आपके द्वारा चुने गए विषय के बारे में जुनून होना बहुत महत्वपूर्ण है।

लेकिन एक ही समय में, एक ऐसा विषय चुनना जो कमाई भी उत्पन्न करता हो, और भी अधिक महत्वपूर्ण है। आपको अपने आप से यह पूछने की ज़रूरत है कि क्या आप उस विषय के बारे में भावुक हैं जिसमें आप ब्लॉगिंग कर रहे हैं या नहीं क्योंकि जुनून सफलता का एक महत्वपूर्ण कारक है।

ईमानदारी से कहा जाये तो,अधिकांश ब्लॉगर एक शौक के रूप में ब्लॉग नहीं करते हैं। उनमें से बहुत से लोग एक आजीविका चलाने के लिए Blogging करते हैं |

तो आपको खुद से सवाल करने की ज़रूरत है कि आपका चुना हुआ विषय लाभदायक है या नहीं। विश्लेषण करें, आपके ब्लॉग का उद्देश्य क्या है? पैसे कमाने के लिए या सिर्फ एक शौक के लिए?

माना कि आप एक विषय से प्यार करते हैं और हर रोज़ इसके बारे में पूरे दिन लिख सकते हैं लेकिन इसमें कोई पैसा नहीं है, तो अनुमान लगाएं कि आप कुछ महीनों में कहां होंगे।

अगर यह “लाभदायक विषय है, लेकिन इसके बारे में लिखने से आपको प्यार नहीं है”     और     “विषय से प्यार है, लेकिन इसमें कोई पैसा नहीं”, 

तो मैं बताता हूँ कि आप कैसे अपने चुने हुए विषय को यह निर्धारित करने के लिए जाँच सकते हैं कि वह लाभदायक है या नहीं 

एक लाभदायक ब्लॉग बनाने के लिए, इन कारकों की जाँच करें:

  • आपके संसाधन क्या हैं?
  • क्या इस बाजार में विज्ञापनदाताओं को आसानी से आकर्षित करना संभव है?
  • क्या कोई Affiliate Marketing और CPA ऑफ़र उपलब्ध हैं?
  • क्या अन्य ब्लॉगर जो इस विषय में काम कर रहे हैं , पैसा कमा रहे हैं?
  • प्रतियोगिता कितनी अच्छी है?

क्या आपके चुने हुए विषय से से संबंधित कोई Affiliate Marketing Product या Services हैं

किसी भी विषय को चुनने से पहले आपको ये जरूर देखना चाहिए कि उस चुने हुए विषय से से संबंधित कोई Affiliate Marketing Product या Services हैं या नहीं ? याद रखिये जिस विषय पर आप लिख रहे हैं , उसी विषय पर और बहुत से लोग भी ब्लॉग बना कर कुछ न कुछ लिख रहे हैं और अगर आपकी लेखन शैली औरों से अलग हटकर है , तभी लोग आपसे जुड़ेंगे | यदि आप आपने आलेख में कुछ मूल्यवान जानकारी दे रहे हैं तभी धीरे धीरे आप अपने विषय के Expert कहला पाएंगे | और एक बार अथॉरिटी बन जाने के बाद आप अपने विषय से संबंधित Product या Services को बेचकर या Recommend करके कमाई कर सकते हैं लेकिन ये तभी संभव हो पायेगा जब आपके विषय से से संबंधित  Affiliate Marketing Product या Services होंगे | उदाहरण के तौर पर WordPress विषय पर बहुत से Plugins , Themes और Products ऐसे हैं जिनमे  Affiliate Marketing की योजना मौजूद है |

Interested in second opinion? Listen to these guys

user-placeholder-man-9-3.jpg

Quisque vel neque a quam convallis rhoncus. In nibh justo, vulputate posuere quam sed, mattis venenatis mi. Donec egestas ex quis magna feugiat, ac laoreet nulla sodales. Vestibulum condimentum nec elit id tincidunt. Morbi quis commodo purus.

Jack McTribe, California

Quisque vel neque a quam convallis rhoncus. In nibh justo, vulputate posuere quam sed, mattis venenatis mi. Donec egestas ex quis magna feugiat, ac laoreet nulla sodales. Vestibulum condimentum nec elit id tincidunt. Morbi quis commodo purus.

Joana Lorenson, New Jersey

user-placeholder-woman-7-2.jpg
user-placeholder-woman-2-5.jpg

Quisque vel neque a quam convallis rhoncus. In nibh justo, vulputate posuere quam sed, mattis venenatis mi. Donec egestas ex quis magna feugiat, ac laoreet nulla sodales. Vestibulum condimentum nec elit id tincidunt. Morbi quis commodo purus.

Maria Flanders, Texas

अपने प्रतियोगियों का विश्लेषण करें

यदि आप एक ऑनलाइन व्यवसाय चलाते हैं तो आपको अपने संभावित ग्राहकों पर शोध करने में बहुत समय लगाना चाहिए । और , यदि आप अपने विषय में नंबर 1 बनना चाहते हैं, तो आपको अपने प्रतियोगियों पर शोध करने में कम से कम उतना समय तो लगाना ही चाहिए जितना आप अपने ग्राहकों को देते हैं।

 मगर क्यों ?

क्योंकि आपके प्रतियोगी आपके लिए महत्वपूर्ण जानकारी का वो हिस्सा जुटा सकते हैं, जहाँ आप अपनी मार्केटिंग के हर पहलू को जान सकते हैं और अपनी साइट को Google के शीर्ष पर पहुँचा सकते हैं।

आपको अपने Niche में आधिकारिक ब्लॉग और वेबसाइटों को भी जांचना होगा और यह भी शोध करना होगा कि आपके प्रतियोगी क्या सामग्री प्रकाशित कर रहे हैं और वे सबसे अधिक Engagement कहां पा रहे हैं। सबसे सरल  यह है कि आप Google पर खोज करें कि आपके विषय से संबंधित Keyword  के लिए कितनी साइटें मौजूद हैं।

यह आपको प्रतियोगिता के 'आकार' पर कुछ संकेत देगा और यह कुछ साइटों की पहचान करेगा जिन्हें आप मॉनिटर करना चाहते हैं।

हालाँकि, इसमें बहुत अधिक समय लगता है। लेकिन यहाँ अच्छी बात है।

सही उपकरणों के साथ, आप अपने Niche के गहन विश्लेषण को बहुत आसानी से कर सकते हैं। आप पहले से ही कुछ विशिष्ट उपकरण चुन  चुके हैं। प्रत्येक विषय में प्रतियोगियों को पहचानें कि कौन अधिक लाभदायक है, वे कैसे पैसा कमा रहे हैं, वे किस प्रकार की सामग्री का उत्पादन कर रहे हैं, वे किस विपणन रणनीतियों का उपयोग कर रहे हैं  ।

  • BUZZSUMO : अपने प्रतिद्वंद्वी का डोमेन नाम डालें और यह उपकरण तुरंत प्रतिद्वंद्वी ब्लॉग सामग्री का विश्लेषण करेगा यह प्रतिद्वंद्वी के सामाजिक शेयरों की संख्या प्रदर्शित करता है। 
  • SEMrush : यह एक उत्कृष्ट उपकरण है जो आपको अपने प्रतियोगी के नामों को दर्ज करने के बाद 10 ऐसे Keywords की सूची देता है जो उनके लिए ट्रैफ़िक ला रहें  है। आप किसी भी Keyword Combination के लिए Searches की औसत मासिक मात्रा भी देख सकते हैं।
  • Moz: यह लाखों वेबसाइटों और वेब पृष्ठों को अपने मालिकाना रैंकिंग एल्गोरिथ्म का उपयोग करके रैंक करता है। रैंक की गई प्रत्येक वेबसाइट में 0 से 100 तक की संख्या होती है। एक साइट के पास जितना अधिक डोमेन अथॉरिटी होती है, वह वेबसाइट उतनी ही प्रभावशाली होती है। यह अलग-अलग वेबसाइट पेज को भी रैंक करता है और 0 से 100 तक की रेटिंग का उपयोग करके पेज अथॉरिटी को फिर से असाइन करता है।
  • Ahref: अपने प्रतिद्वंद्वियों के बारे में विचार प्राप्त करने के लिए, आप प्रत्येक प्रतियोगी डोमेन के लिए कुछ आँकड़े और मैट्रिक्स एकत्र कीजिये । आप एक ही समय में 5 डोमेन का विश्लेषण करने के लिए Ahrefs डोमेन तुलना टूल का उपयोग कर सकते हैं। आप एक Niche की Overall प्रतिस्पर्धा को जान सकते हैं। 

Competitor Performance Metrics को खोजने और उसका विश्लेषण करने के लिए आपको एक अच्छी राशि खर्च करनी पड़ सकती है। हालाँकि, सही टूल का उपयोग करके, आप प्रक्रिया को आसान बना सकते हैं। अपने प्रतिस्पर्धियों पर शोध करना बेहद महत्वपूर्ण है। जब आप जानते हैं कि उनके लिए क्या काम कर रहा है, तो आप इसी तरह के विषयों के आसपास अपनी खुद की सामग्री बना सकते हैं।

अपने विषय से संबंधित Forums की जांच करें

Forums को पढ़ना आपके विषय के बारे में अधिक जानने का सबसे अच्छा तरीका है। एक Forum एक ऐसी जगह है जहाँ लोग एक दूसरे के साथ बातचीत करते हैं और वे उससे संबंधित कई सवाल पूछते हैं।

तो कैसे उन Forums को खोजें ?

  • बस Google खोल कर  और "अपना विषय  + Forum" टाइप करें जैसे हम " Cooking + Forum " टाइप करेंगे  "


    इसलिए हम इन Forums से जुड़ेंगे और देखेंगे कि लोग क्या चर्चा कर रहे हैं। आइए इन खोज परिणामों में से एक पर एक नज़र डालें।



    यदि आप इनमें से किसी भी Forum Thread में प्रवेश करते हैं, तो आप देखेंगे कि लोग अभी क्या चर्चा कर रहे हैं।



    यह अभ्यास आपको अपने ब्लॉग पर लिखने के लिए अपने विषय के बारे में और अधिक विषय विचारों के बारे में अधिक शब्दावली देगा।

सार संक्षेप Summary

ब्लॉग के लिए विषय चुनने की पूरी प्रक्रिया के ये चरण हैं -

1

सबसे पहले अपनी रुचियों और जूनून को परखिये |

नया ब्लॉग शुरू करने से पहले ध्यान दीजिये कि आपकी रुचियाँ क्या हैं ? आपको रोजाना की जिन्दगी में क्या पसंद है ? किन विषयों पर आप बिना बोर हुए घंटों तक बात कर सकते है ? क्या करना आपको अच्छा लगता है ? आप किस विषय के बारे में काम करने के लिए जोश और जूनून से लगे रह सकते है ?

2

अपनी जानकारी को जाँचिये |

अगला महत्वपूर्ण काम है अपनी जानकारी की परख करना | जो विषय आपको पसंद है या जिस विषय के प्रति आप जुनूनी हैं, उस विषय पर आपको कितनी जानकारी है ? अगर आपको खुद ही जानकारी नहीं है तो आप अपने पाठकों को ज्यादा मूल्यवान सामग्री कैसे दे पाएंगे ? चुने गए विषय पर आपको भी जानकारी होनी चाहिए |

3

चुने गए विषय पर प्रतियोगिता का स्तर जानिए |

आपने जो विषय चुना है , उस पर दुनिया में और भी बहुत से ब्लॉग होंगे | पता कीजिये कि उस विषय पर किस किस तरह के ब्लॉग पहले से चल रहे हैं ? उस क्षेत्र में प्रतियोगिता का स्तर कैसा है ? उस विषय पर Google के Top Results में आने वाले Blogs की डोमेन और पेज अथॉरिटी का पता कीजिये | क्या आपके विषय पर Google के Top Results में बड़ी बड़ी Websites का कब्ज़ा है या कुछ और ब्लॉग भी हैं ?

4

चुने गए विषय पर Target Audience कितनी है ?

अपने ब्लॉग के लिए कम प्रतियोगिता वाले विषय का चयन तो हर कोई कर लेता है मगर क्या उस विषय को पढ़ने वाले लोग पर्याप्त हैं भी या नहीं? यदि आपके चुने गए विषय पर कम प्रतियोगिता है तो हो सकता है कि उस विषय के पाठक भी कम हों और उस विषय पर Blog को Monetise करने के लिए Affiliate Marketing Products और सर्विसेज भी बहुत कम हों |

5

चुने गए विषय पर मुनाफे की सम्भावना कितनी है ?

आपके चुने गए विषय पर बहुत से पाठक होने के बाद ये देखना होगा की उस विषय पर मुनाफे की सम्भावना कितनी है ? क्या उस विषय पर Blog को Monetise करने के लिए Affiliate Marketing Products और सर्विसेज हैं ? कितनी Ecommerce साइट्स और Affiliate Sites हैं और लोग उस विषय पर कितना पैसा कमा रहे हैं , ये देखना भी जरूरी है |

6

क्या आप चुने गए विषय पर लगातार बेहतरीन लेख लिख सकते हैं ?

अगला महत्वपूर्ण काम है आपने जो विषय चुना है , क्या आप उस पर लगातार बेहतरीन सामग्री लिख सकते हैं जो पाठकों का उत्साह जगाये रखे और उन्हें आपका Target Customer बना सके ? क्योंकि अंततः यही पाठक आपकी सफलता का सूत्रधार बनेंगे |

निष्कर्ष

यदि आप Blogging में नए हैं, तो मैं आपकी स्थिति की कल्पना कर सकता हूं। ब्लॉगिंग के लिए सही विषय चुनना बहुत मुश्किल काम की तरह लगता है लेकिन जब आप सही सलाह का पालन करते हैं, तो आप एक या दो दिन के भीतर सही विषय चुन सकते हैं।

इसलिए मैंने इस पर एक विस्तृत गाइड लिखा है ताकि यह आपकी वेबसाइट के लिए सही विषय तय करने में आपकी मदद कर सके।

तो आपके विचार क्या हैं? क्या आप यह पोस्ट पसंद आया? 

टिप्पणियों में अपने विचार साझा करें।

Leave a Comment